Uttarakhand News: अगर आप महिला हैं और रोजगार की तलाश कर रही हैं तो यह खबर आपके लिए ही है. वहीं अगर आप उत्तराखंड में निवास करती है तो जल्द ही आपकी रोजगार की समस्या सुलझ जाएगी. दरअसल महिला एवं बाल विकास से जुड़ी योजनाओं को जमीन पर उतरने वाले आंगनवाड़ी केंद्र में जल्द ही नौकरियों की भरमार निकालने जा रही है.

जी हां, उत्तराखंड में 5000 से अधिक महिलाओं को रोजगार मिलने वाला है. जानकारी के अनुसार, उत्तराखंड में 5120 मिनी आंगनवाड़ी केंद्रोंं को आंगनबाड़ी केंद्र के रूप में उच्चीकृत किया जा सकता है और ऐसा होने पर हर एक सहायिका की नियुक्ति की जाएगी. इस बात की जानकारी महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्या ने विभागीय समीक्षा बैठक के दौरान दी.

बड़ी फायदेमंद है बादाम की खेती, सीमित लागत में कर सकेंगे तगड़ी कमाई

खाली पदों का मांगा ब्यौरा
मंत्री रेखा आर्या ने आंगनबाड़ी और मिनी आंगनवाड़ी केद्रों में खाली पड़े कार्यकर्ता और सहायिकाओं के पदों की भी जानकारी मांगी है. इसके साथ ही नियुक्ति से जुड़े प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश जारी किए. रेखा आर्य ने बताया कि आंगनबाड़ी केंद्र कार्यकर्ता के साथ सहायिका की भी नियुक्ति होती है. इसी कड़ी में मिनी आंगनवाड़ी केंद्रों की उच्चीकृत होने के बाद 5120 महिलाओं को सहायिका के रूप में रोजगार मिल पाएगा.

Business Idea: ऐसे शुरू करें रस्क बनाने का बिजनेस, जानें लागत और कमाई की डिटेल्स

केंद्र सरकार ने भी भर दी हामी
महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास मंत्री के अनुसार, उत्तराखंड में संचालित 5120 मिनी आंगनवाड़ी केंद्रोंं को आंगनबाड़ी केंद्रोंं के रूप में उचित करने के लिए खुद केंद्र सरकार ने हामी भर दी है. ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि दिसंबर माह के अंत तक केंद्र सरकार से परमिशन मिल जाएगी और मिनी आंगनवाड़ी केंद्रोंं को उच्चीकृत करने का काम शुरू हो जाएगा.

लखपति बना देंगे गोबर से बने ये प्रोडक्ट्स, विदेशों में भी तेजी से बढ़ रही डिमांड

मंत्री के अनुसार, आंगनबाड़ी केंद्रोंं में कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं के पद खाली पड़े हुए हैं. ऐसे में सरकार भी यही चाहती है कि कोई भी पद खाली ना रहे. बता दें कि उत्तराखंड में रहने वाली महिलाओं के लिए यह एक सुनहरा मौका है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here