chachi bhatija relation

चाची के प्यार में पागल हुआ भतीजा, फिर दोनों ने साथ मिलकर उठाया यह गलत कदम

Crime News: चाची और भतीजे का रिश्ता मां-बेटे के रिश्ते की तरह पवित्र माना जाता है लेकिन उत्तर प्रदेश के खीरी के धौरहरा कोतवाली क्षेत्र से ऐसी खबर सामने आई है, जिसने इस रिश्ते को शर्मसार कर दिया है. दरअसल यहां के तुलसीरामपुरवा गांव में एक ही पेड़ पर एक चाची और उसका भतीजा फांसी के फंदे से लटक गए. दोनों के शव के पेड़ की डाल से एक ही रस्सी के दोनों छोरों से लटके हुए मिले.

गांव वालों ने देखा तो तुरंत पुलिस को सूचित किया. इसके बाद पुलिस में दोनों के शवों को पोस्टपार्टम के लिए भेज दिया है. घर वालों ने भी किसी भी तरह की कोई भी आशंका जाहिर नहीं की है. वहीं, मृतक महिला के पति के मुताबिक, दोनों ने रात के समय ही घर छोड़ दिया था और रात से ही दोनों ढूंढे जा रहे थे.

पॉर्लर में तैयार हो रही दुल्हन ने साथ भागने से किया मना, तो सनकी आशिक ने मार दी गोली

परिवारीजन इन्हें लगातार ढूंढ रहे थे
बताया जा रहा है कि धौरहरा कोतवाली क्षेत्र के तुलसीरामपुरवा गांव के लोगों ने दोपहर को गांव के बाहर स्थित पेड़ पर दोनों के शव लटकते हुए देखे. इसके बाद उनकी पहचान 25 साल शिवकुमार गौतम और उसकी चाची के रूप में हुई. दोनों के सब गांव के बाहर खेत में लगे गूलर के पेड़ की डाल से एक ही रस्सी से लटके हुए थे. परिजनों की माने तो दोनों 26 जून की रात से ही लापता हो चुके थे. परिवारीजन इन्हें लगातार ढूंढ रहे थे.

अवैध संबंधों में थे चाची-भतीजा
ग्रामीणों ने जब दोनों के शव देखे तो उनके परिजनों को सूचित किया. दोनों के परिजन भी इसे आत्महत्या का ही करार दे रहे हैं. वहीं, दोनों की आत्महत्या को लेकर पूरे गांव में तरह-तरह की बातें फैल रही हैं. घर वाले इस बारे में तो कुछ नहीं कहना चाह रहे हैं लेकिन गांव वालों का कहना है कि इन दोनों के बीच प्रेम प्रसंग था. दोनों लंबे समय से अवैध रिश्तों में थे. घरवाले इसका विरोध कर रहे थे. दोनों साथ जी तो नहीं सकते थे इसीलिए शायद दोनों ने साथ करने का फैसला किया.

प्रेमिका ने कहा- मुझसे प्यार है तो मर के दिखाओ…शादीशुदा आशिक ने लगा ली फांसी

फिलहाल पुलिस ने दोनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. प्रभारी निरीक्षक दिनेश कुमार सिंह का कहना था कि यह मामला आत्महत्या का लग रहा है. घर वालों ने केवल पोस्टमार्टम करवाने की तहरीर दी है हालांकि गांव वाले तरह-तरह के कयास लगा रहे हैं.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Scroll to Top